नमस्कार दोस्तों, मेरा डोमेन है ओंकार और मेरी वेबसाइट OKTECHGALAXY.COM पर आपका फिर से एक बार स्वागत है। कुछ दिन पहले मेरी वेबसाइट का डोमेन कुछ अलग था और आज मेरी वेबसाइट का डोमेन कुछ अलग है, यह इसलिए क्योंकि मैंने मेरे वेबसाइट का डोमेन बदल दिया है। अगर आपको बाद में डोमेन नेम बदलना न पड़े इसलिए सही डोमेन खरीदना होगा। तो Domain name kaise kharide?

तो दोस्तों वेबसाइट का डोमेन बदलने के कुछ कारण भी होते हैं । वैसा ही मेरा भी एक कारण था । हम इस पॉइंट के बारे में भी नीचे विस्तार से जानेंगे। पर अगर आपको भी वेबसाइट का डोमेन बदलना है। या फिर वेबसाइट का डोमेन रखने से पहले क्या करना जरूरी है यह जानना है तो यह पोस्ट पूरा जरूर पढ़ें । इस पोस्ट में मैंने वेबसाइट के डोमेन के बारे में काफी विस्तार से जानकारी दी है। क्योंकि यह एक महत्वपूर्ण टॉपिक होता है।

एक ब्लॉगर के लिए अगर आप ब्लॉगिंग शुरू करना चाहते हो और पहली बार हमारी वेबसाइट पर आ चुके हो तो यह पोस्ट पूरा जरूर पढ़ें और हमने ब्लॉगिंग के ऊपर कई सारे पोस्ट को पब्लिश कर दिया है आपको जिस विषय के बारे में जानना है उस विषय के बारे में ब्लॉगिंग संबंधी जानकारी मौजूद कराई गई है। आप ब्लॉगिंग का पूरा कैटेगरी पढ़ सकते हो या फिर नए क्वेश्चन भी कमेंट में कर सकते हो।

तो दोस्तों इस पोस्ट से आपको क्या कुछ नया इंटरेस्टिंग और यूज़फुल जानने को मिलेगा यह मैं आपको सबसे पहले नीचे मुद्दों द्वारा बता देता हूं ।

डोमेन नेम खरीदने से पहले क्या करें?

गलत डोमेन नेम किस तरह के होते हैं ?

वेबसाइट का डोमेन कैसे सेटअप करे?

Best Domain kaise kharide, How to buy useful Domain name, Domain name kharidne se pahle kya kare, Domain name kharidte waqt galatiya, Website Domain Name kaise badle, Domain name kaise badle, Galat domain name se kaise bache, Galat domain name konse hote hai, How to set up domain name, How to verify domain with website, Verify domain name with hosting, डोमेन नेम खरीदने से पहले क्या करें,
डोमेन नेम खरीदने से पहले क्या करें? गलत डोमेन कौनसे होते हैं? डोमेन होस्टिंग से वेरीफाई कैसे करे?
Best and Useful
> वेबसाइट फॉर्म बनाने के लिए बेस्ट वेबसाइट
> फ्लिपकार्ट एफिलिएट मार्केटिंग अकाउंट कैसे बनाएं?
> Share it सबसे फ़ास्ट ट्रांसफर कैसे करता है?
> कॉल ऑफ ड्यूटी Obb फाइल कैसे सेटअप करें?
> यूट्यूब चैनल पर शार्ट वीडियो कैसे अपलोड करें ?

डोमेन नेम खरीदने से पहले क्या करें?

दोस्तों अगर आप अपनी वेबसाइट के लिए या फिर ब्लॉग के लिए डोमेन नेम खरीदना चाहते हो या फिर वेबसाइट का डोमेन कौन सा रखना है यह कंफ्यूजन आपके मन में है, तो यह पोस्ट आपके लिए ही बना हुआ है। इस पोस्ट में मैं आपको बताऊंगा कि किसी भी वेबसाइट का डोमेन रखने से पहले क्या करना जरूरी है। या फिर किन मुद्दों पर ध्यान देकर अपनी वेबसाइट का डोमेन सेलेक्ट करें।

इस पोस्ट में मैं आपको वेबसाइट डोमेन रखने से पहले कौन-कौन सी वह बातें है जो आपकी वेबसाइट को एक बेहतर से बेहतर डोमेन दे सकती है। इसके बारे में बात करूंगा क्योंकि यही एक मुद्दा होता है जो सबसे जरूरी है। जो कि एक ब्लॉगर को करनी जरूरी है।

क्योंकि बाद में अगर आप वेबसाइट का डोमेन चेंज करने की सोचते हो तो आपको कई सारे बातो के लिए दिक्कतें आती है। और यह मैंने पूरी तरह से अनुभव लेने के बाद ही बताया है। क्योंकि मेरे वेबसाइट का भी डोमेन पहले कुछ अलग था और कुछ आज कुछ अलग है।

तो वेबसाइट का डोमेन बदलने से आपको कौन सी दिक्कते आ जाती है और वेबसाइट का डोमेन किस तरह से बदला जाता है इस पर भी मैंने एक पोस्ट काफी विस्तार से लिखा है। इस पोस्ट में मैं सिर्फ आपको यह बताऊंगा कि वेबसाइट का डोमेन सेट करने से पहले कौन सी बातें ध्यान में रखनी जरूरी है। तो दोस्तों चलिए शुरू करते है आज का यह पोस्ट ।

#1 ] वेबसाइट डोमेन में हो कम से कम शब्द

दोस्तों वेबसाइट का डोमेन अगर काफी लंबा और ज्यादा शब्दों वाला होगा तो यूज़र को उस डोमेन को लिखने में या फिर टाइप करने में काफी सारा वक्त लग जाता है। और इससे आपकी वेबसाइट का डोमेन काफी कम लोगों को याद रहता है इसलिए डोमेन काफी कम शब्दों में होना चाहिए और मेरे हिसाब से 6 से 8 शब्दों में अगर आपकी वेबसाइट का डोमेन हो तो सबसे बेहतर होता है।

अगर इंटरनेट पर सबसे बेस्ट वेबसाइट को देखा जाए तो, आपको देखने को मिल जाएगा कि गूगल, फेसबुक, टि्वटर, व्हाट्सएप, टेलीग्राम, टिक टॉक जैसी बड़ी बड़ी कंपनियां या फिर वेबसाइट का डोमेन काफी छोटा होता है।

और उसमें कम से कम शब्द होते है और वह इसी वेबसाइट काफी कम समय में लोग ध्यान में रखते है या फिर इस्तेमाल करना शुरू करते है । इसलिए अपनी वेबसाइट का डोमेन सेलेक्ट करने से पहले यह देखे कि वेबसाइट के डोमेन में कम से कम शब्द है या नहीं ।

#2 ] यूजर फ्रेंडली डोमेन जरूरी है।

दोस्तों लोगों को आप की वेबसाइट पर ज्यादा से ज्यादा विजिट करने के लिए सबसे बेहतर यही है कि आपके वेबसाइट का डोमेन काफी यूजर फ्रेंडली हो । यूजर फ्रेंडली का मतलब यह है कि एक ऐसा डोमेन जो जल्द से जल्द लोगों को अपनी तरफ आकर्षित करें और लोग भी ऐसी वेबसाइट इस्तेमाल करना पसंद करें। इसलिए यूजर फ्रेंडली डोमेन हर एक वेबसाइट के लिए जरूरी है।

अगर कुछ ऐसा डोमेन अपने वेबसाइट के लिए सेलेक्ट करते हो जो लोगों को बोलने में तकलीफ होती है। तो वह ज्यादा से ज्यादा वायरल भी नहीं होगा क्योंकि जब भी लोग एक वेबसाइट को इस्तेमाल करते है तो वह लोग दूसरों को भी उस वेबसाइट के लिए सजेशन देते है और अगर आपके वेबसाइट का डोमेन बोलने में ही दिक्कत वाला हो तो उसमें यूज़र भी कम पाए जाएंगे। इसलिए वेबसाइट का डोमेन काफी यूजर फ्रेंडली और कम शब्द में होना जरूरी है।

#3 ] वेबसाइट सब्जेक्ट का भी डोमेन में जिक्र होना

दोस्तों अगर आप की वेबसाइट किसी एक सब्जेक्ट पर काम करती है। तो उस सब्जेक्ट का डोमेन या थोड़ा सा इंफॉर्मेशन अपने वेबसाइट के डोमेन में होना जरूरी है। जैसे कि मेरी वेबसाइट टेक्नोलॉजी से रिलेटेड है। तो डोमेन में मेरे वेबसाइट के Tech शब्द भी ऐड है। ऐसे ही कई सारे सब्जेक्ट होते है जो अलग-अलग काम करते है।  जिसमें Tool , Cooking , Convert से रिलेटेड वेबसाइट हो तो ऐसे शब्द वेबसाइट के डोमेन में ऐड होना जरूरी है।

वैसे ही मोटिवेशनल, क्वाइट या थॉट जैसी वेबसाइट हो तो उस तरह के शब्द भी वेबसाइट डोमेन में ऐड करना जरूरी है। तब ऐसी वेबसाइट लोगों के ध्यान में रखना या सर्च करना आसान हो जाता है। इसलिए अपना वेबसाइट का सब्जेक्ट जो भी हो उस सब्जेक्ट का एक शब्द तो अपनी वेबसाइट के डोमेन में जरूर ऐड करें। इससे आपकी वेबसाइट ज्यादा से ज्यादा अच्छी रैंकिंग पा सकती है।

#4 ] वेबसाइट डोमेन में कीवर्ड ऐड करना

दोस्तों की वर्ड क्या होते है इसके बारे में तो आपको पता ही होगा अगर पता नहीं है। तो मैं आपको बता दूं यह एक ऐसा सब्जेक्ट होता है जो आपके वेबसाइट पर काफी बड़ा रोल प्ले करता है। जैसे कि आप की वेबसाइट टेक्नोलॉजी से रिलेटेड है तो आपकी वेबसाइट के सारे कीवर्ड भी टेक्नोलॉजी पर आधारित होंगे।

उसी तरह आप की वेबसाइट क्वेश्चन आंसर की है तो आपको ऐसे कीवर्ड अपने वेबसाइट पर लगाने होंगे या उस पर काम करना जरूरी है। तो वेबसाइट डोमेन मैं भी कीबोर्ड काफी बड़ा रोल अदा करता है। जैसे कि हाउ टू मेक, हाउ टू प्ले जैसे कि वर्ल्ड काफी ट्रेनिंग में रहते है तो ऐसे शब्द भी आपके वेबसाइट के डोमेन में काफी बड़ा चेंज ला सकते है। इसलिए कि वर्ड को भी अपनी वेबसाइट के डोमेन में ऐड जरूर करें ।

#5 ] ब्रांडेड डोमेन नेम चुने

दोस्तों जब भी अपनी वेबसाइट का डोमेन सेट करने की बारी आती है। तो सबसे पहले आपकी वेबसाइट पर किस तरह का कंटेंट मौजूद है यह जानना जरूरी है। अगर आप की वेबसाइट पर काफी लो क्वालिटी का कंटेंट या फिर किसी से कॉपी किया हुआ कंटेंट है तो आपकी वेबसाइट एक ब्रांड की तरह नजर नहीं आएगी ।

इसलिए आप की वेबसाइट पर किसी भी तरह का कंटेंट क्यों ना हो डोमेन आपको काफी ब्रांडेड ही सिलेक्ट करना है। काफी बड़े-बड़े ब्रांड के जिस तरह से डोमेन होते है उस तरह से ही अपनी वेबसाइट को डोमेन नेम से सेलेक्ट कनेक्ट करें ।

#6 ] डोमेन नेम में नंबर यूज ना करें

दोस्तों आपको काफी कम ऐसी वेबसाइट मिलेंगे जहां पर आपको किसी भी 2 महीने में नंबर ऐड हुआ नहीं देखने को मिलेगा क्योंकि ऐसा इसलिए होता है। कि अगर आप अपने वेबसाइट के डोमेन में नंबर ऐड करते हो तो वह वेबसाइट कुछ अच्छे नहीं लगते है या फिर लोगों को ध्यान में रखना काफी मुश्किल हो जाता है। साथ में वेबसाइट के डोमेन में नंबर ऐड होने से वह कुछ ईमेल एड्रेस की तरह लगती है।

ऐसी वेबसाइट लोग काफी कम ध्यान में रख पाते है इसलिए अपनी वेबसाइट के डोमेन में नंबर को ऐड कभी भी ना करें क्योंकि अगर किसी को आपकी वेबसाइट का डिजाइन पसंद आता है। तो कोई व्यक्ति उसी तरह का डोमेन नेम और चीन इस्तेमाल करके दूसरी वेबसाइट बना सकता है। और आप कई रैंकिंग या विजिटर कम होने के चांसेस भी बढ़ जाते है इसलिए डोमेन नेम में नंबर ना इस्तेमाल करें

गलत डोमेन नेम किस तरह के होते हैं?

1 ] डबल लेटर का इस्तेमाल ज्यादा ना हो

दोस्तों अगर आप की वेबसाइट पर आपने कम से कम शब्द इस्तेमाल किया है, तो वह तो ठीक है। पर कोई भी शब्द डबल डबल नहीं आना चाहिए क्योंकि इससे आपकी वेबसाइट के डोमेन पर काफी गलत असर पड़ता है। और वह शब्द या आपकी वेबसाइट का डोमेन बोलते वक्त उस डोमेन का मतलब कुछ अलग ही निकलता है। इसलिए वेबसाइट का डोमेन सेलेक्ट करना है, तो एक सिंपल सा पर ब्रांडेड डोमेन चुने ।

जो बोलने में भी आसान हो और डबल लेटर में ना हो। डबल लेटर के कई सारे मतलब निकल जाते है या फिर बन जाते है और इसे आम लोगों को वह वेबसाइट दूसरों को बताने में भी मुश्किलें आ जाती है। और टाइप करके सर्च करने में भी मुश्किल आ जाती है क्योंकि एक शब्द सर्च करते वक्त मिस हो गया तो आपकी ही वेबसाइट सर्च नहीं होगी ।

2 ] गलत शब्द का डोमेन ना चुने

दोस्तों किसी को आपकी डोमेन द्वारा वह डोमेन गाली जैसा लगना या फिर डोमेन में अपशब्द होना या फॉर्म जैसे शब्द का इस्तेमाल होना काफी गलत डोमेन नेम को सजेस्ट करता है। साथ में इससे आपकी वेबसाइट पर काफी बुरा असर पड़ता है। आपकी वेबसाइट में ऐडसेंस अप्रूवल जल्दी नहीं मिल पाता है। इसलिए गलत शब्दों को अपने डोमेन में इस्तेमाल ना करें।

हालांकि कई सारे पॉर्न इंडस्ट्री ऐसे शब्दों को अपने डोमेन में इस्तेमाल करती है। पर वह अलग अलग पॉपअप द्वारा पैसा कमाती है। तो उन्हें ऐडसेंस जैसे पैसों का कोई मतलब नहीं होता है। वह अन्य कई सारे मार्गो से पैसा कमाती है। पर अगर आप एक अच्छा कॉन्टेंट लोगों को पेश करते हो तो अपनी वेबसाइट के डोमेन में गलत शब्द या फिर अपशब्दों का इस्तमाल भूलकर भी ना करें।

वेबसाइट का डोमेन नेम होस्टिंग से वेरीफाई कैसे करे?

दोस्तों वैसे तो वेबसाइट का डोमेन बदलना काफी आसान है। पर अगर आपने ऊपर बताए गए पॉइंट पर नजर डालते हुए डोमेन को खरीद लिया है। तो ठीक है। पर आपको Domain extension को भी देखना जरूरी है।

हमने पिछले पोस्ट में बेस्ट डोमेन एक्सटेंशन कौन से होते है और किस तरह से अलग-अलग काम करते है इस पर भी बात की है। आप चाहे तो ऊपर दी गई लिंक से वह पोस्ट भी पढ़ सकते है । अगर आपने अपने वेबसाइट का डोमेन बदलने का सोचा है। तो आप उसमें से फेवरेट डोमेन एक्सटेंशन सलेक्ट कर ले। मेरे ख्याल से डॉट कॉम डोमेन एक्सटेंशन सबसे बेहतर काम करता है।

तो अगर आपने ऐसा डोमेन नेम चुना है। जो आपको सही लगता है। तो आपको वह डोमेन में सबसे पहले किसी भी डोमेन प्रोवाइडर या होस्टिंग कंपनी से खरीद लेना है। अगर आप किसी भी डोमेन प्रोवाइडर से वह डोमेन नेम खरीदते हो । hostinger पर आपको होस्टिंग के साथ एक डोमिन फ्री मिल जाता है।

तो अगर आपने Hostinger या फिर Godaddy से वह डोमेन खरीदा है। तो आपको उस डोमेन नेम को अपनी वेबसाइट के साथ कनेक्ट करना होगा। तब जाकर आप की वेबसाइट रन करेगी या गूगल पर सर्च होगी। तो यह वेबसाइट के साथ किस तरह से कनेक्ट किया जाता है। यह अब मैं बताता हूं ।

सबसे पहले आपको ब्लॉगर में एंटर करने ब्लॉगर का सेटिंग ओपन करना है। सेटिंग में आपको कस्टम डोमेन का एक ऑप्शन देखने को मिल जाएगा। उस कस्टम डोमेन के बॉक्स में आप को खरीदा हुआ डोमेन जैसा खरीदा है वैसा ही टाइप करना है। उसके बाद उस डोमेन का एक्सटेंशन भी टाइप करना है और सेव पर क्लिक कर देना है।

उसके बाद गूगल का ब्लॉगर आपको रेड अलर्ट या वार्निंग देगा। जिसमें यह बताया होगा कि आपको वह डोमेन नेम सर्वर नेम से कनेक्ट करना है। तो अब आपको वह DNS मिल गए जो आपको अपने होस्टिंग प्रोवाइडर के DNS Name Server में  इंटर में पेस्ट करने है ।

तो अब आपको अपने होस्टिंग प्रोवाइडर की वेबसाइट को ओपन करना है। इसके लिए दूसरा टैब ओपन करे। अगर आप होस्टिंग प्रोवाइडर के वेबसाइट में एंटर कर चुके हो और अपना डैशबोर्ड ओपन किया है। तो आपको DNS या नेमसर्वर मैं एंटर करना है।

होस्टिंगर में आप डैशबोर्ड में से HOSTING ऑप्शन क्लिक करें और उसके बाद आप होस्टिंग की दशबोर्ड तक पहुंच जाते हो जहां से आपको DNS Editer सिलेक्ट कर लेना है। तब आप नेमसर्वर तक पहुंच जाते हो । DNS Name Server सर्वर पर क्लिक कर दें । आपका नेम सर्वर ओपन हो जाएगा। आपने जो ब्लॉगर का Domain Verification पेज ओपन किया था|

उसमें से ghs.google.com कॉपी करें और होस्टिंगर के साइट पर आकर Name बॉक्स में CNAME सेलेक्ट करें TYPE बॉक्स में WWW एंटर करे और ghs.google.com को CONTENT बॉक्स में पेस्ट करें ।

अब दोबारा ब्लॉगर पर विजिट करके gv-doc3tmn4zzd.dv.googlehosted.com को कॉपी करें और फिर से पोस्टिंगर पर विजिट करके NAME बॉक्स में CNAME सेलेक्ट करे ।  TYPE बॉक्स में अपने वेबसाइट का लिंक एंटर करे और  CONTENT बॉक्स में कॉपी किया हुआ कोड या टेक्स्ट पेस्ट करें और हर एक एक्टिविटी सेव करें ।

अब आपको आईपी एड्रेस को भी अपने डोमेन प्रोवाइडर के साथ कनेक्ट करना जरूरी है। तो पहले DNS एडिटर को ओपन करके Name Server को ओपन करे हमने NAME बॉक्स में A सेलेक्ट करे । TYPE BOX में @ सेलेक्ट करे । और अब नीचे दिए गए या ब्लॉगर पर दिखाएं गए IP Adress को CONTENT बॉक्स में एक के बाद एक पेस्ट करे। आपका न्यू डोमेन या फर्स्ट डोमेन होस्टिंग प्रोवाइडर के साथ कनेक्ट हो जाएगा ।

216.239.32.21

216.239.34.21

216.239.36.21

216.239.38.21

इतना प्रोसेस होने के बाद आपको अपनी वेबसाइट रन होने के लिए कम से कम 24 घंटे का समय लगेगा। यह प्रोसेस आप Hostinger , Godaddy या अन्य डोमेन प्रोवाइडर वेबसाइट के साथ सेम ही कर सकते हो । आपको बस अपने गोडैडी अकाउंट से डैशबोर्ड ओपन करके डोमेन नेम को सिलेक्ट करना है। और उसका DNS Name Server चेंज करना है।

NOTE ::

दोस्तों ऊपर बताई हुई जानकारी आप या तो वेबसाइट का डोमेन बदलने के लिए इस्तेमाल कर सकते हो या फिर नया डोमेन नेम खरीद कर वेबसाइट से कनेक्ट करने के लिए भी कर सकते हो। साथ में ब्लॉगर को होस्टिंग से पॉइंट या कनेक्ट करने के लिए भी कर सकते हो। तीनो प्रोसेस के लिए सेम ट्रिक काम करती है।

पर तीनों ऑप्शन के लिए यह ट्रिक सेम काम कर रही हो तब भी आपको होस्टिंग के लिए DNS Name Server मैं कुछ चेंजस करके यह काम किया जाता है जैसे कि बॉक्स में अलग-अलग ऑप्शन होते हैं। जो कि अलग-अलग काम के लिए इस्तेमाल होते हैं।

हम आने वाले पोस्ट में उनका भी विस्तार से जायजा लेंगे । पर अगर आप चाहते हो कि यह काम वर्डप्रेस के लिए कैसे करें या फिर होस्टिंगर पर वर्डप्रेस इंस्टॉल करके किस तरह से वेबसाइट पर काम शुरू करें तो मुझे कमेंट करें मैं उस पर भी एक पोस्ट आप तक पहुंचाऊंगा ।

दोस्तों इस पोस्ट में हमने जाना कि ” डोमेन नेम खरीदने से पहले क्या करें? गलत डोमेन नेम किस तरह के होते हैं ? वेबसाइट का डोमेन किस तरह से बदले? What to do before buying a domain name? What are wrong domain names? How to change website domain?

तो दोस्तों यह आर्टिकल कैसा लगा COMMENT जरूर करें । अगर इस आर्टिकल से जुड़ा आपका कोई सवाल है तो कृपया कमेंट बॉक्स में जरूर पूछे । ताकि आपके साथ और भी लोगों की परेशानी दूर हो । अगर आर्टिकल अच्छा लगे तो इसे अपनों में और आपके पसंदीदा सोशल मीडिया वेबसाइट पर SHARE जरूर करें । अन्य सोशल मीडिया साइट पर हमारे नोटिफिकेशन पाने के लिए कृपया हमें आपके पसंदीदा सोशल मीडिया साइट पर फॉलो भी करें ।

ताकि हमारा आने वाला कोई भी आर्टिकल आप मिस ना कर सको । हमें Facebook, Instagram,  Twitter, Pinterest और Telegram पर फॉलो करें । साथ में हमारी आनेवाली पोस्ट के ईमेल द्वारा Instant Notification के लिए FeedBurner को SUBSCRIBE करें ।


अगर हारने से डर लगता है तो,जितने  की इच्छा कभी मत रखना | OKTECHGALAXY.COM / Motivation