नमस्कार दोस्तों मेरा नाम है ओंकार और मेरी वेबसाइट OKTECHGALAXY.COM पर आपका स्वागत है । पिछले आर्टिकल में हमने Two step verification के बारे मे काफी विस्तार से चर्चा की थी और यह भी बात की थी कि टू स्टेप वेरिफिकेशन से किस तरह से सोशल मेरे अकाउंट को सिक्योर बनाया जा सकता है । Two step verification Off क्यों और कैसे करें?

पर दोस्तों हमने उस वक्त पर टू स्टेप वेरीफिकेशन के काफी सारे फायदे देखे थे पर दोस्तों जहां पर फायदे होते हैं वहां पर थोड़े बहुत नुकसान भी होते हैं । इसलिए मैं यह आर्टिकल आपके लिए लाया हूं कि ताकि हम टू स्टेप वेरिफिकेशन के नुकसान भी जान सके । क्या है इस टू स्टेप वेरिफिकेशन के नुकसान इसके बारे में हम इस आर्टिकल में विस्तार से चर्चा करेंगे ।

दोस्तों अगर आपने भी किसी सोशल मीडिया साइट पर सोशल अकाउंट के लिए टू स्टेप वेरिफिकेशन का डबल सिक्योरिटी लगाया है । तो काफी सारे लोगों ने यह नोटिस किया होगा की उस एप्लीकेशन के द्वारा हमने दिए हुए नंबर पर मैसेज हमें जल्दी से नहीं पहुंच पाते ।

इसके वजह से अपने अकाउंट को एक्सेस करने के लिए काफी सारा वक्त लगता है । तो हमें अपने महत्वपूर्ण काम को रोक कर वह टू स्टेप वेरिफिकेशन को हल करना होता है और उसके बाद ही हम अपने अकाउंट को साइन इन कर पाते हैं इसलिए मुझे लगता है कि टू स्टेप वेरिफिकेशन काफी सारी दिक्कतें दे देता है ।

तो इस आर्टिकल से हम जानेंगे कि टू स्टेप वेरीफिकेशन के नुकसान क्या होते है? टू स्टेप वेरिफिकेशन ऑफ करें या नहीं? टू स्टेप वेरीफिकेशन कैसे ऑफ करें? Two step Verification kya hota hai? How to disable two step verification?

Two Step verification , Two step verification kya hai, Two step verification kyu off kare, Two step verification disable karna kyu jaroari hai, Two step verification kaise off kare, How to off Two step verification, How to disable 2 step verification, Two step verification ke nuksaan, टू स्टेप वेरीफिकेशन के नुकसान, टू स्टेप वेरीफिकेशन कैसे ऑफ करें.
टू स्टेप वेरीफिकेशन के नुकसान क्या होते है? How to disable two step verification?
Popular Or Famous Contents .
> Telegram Group पर ऐड कैसे होते हैं? 
> गूगल सर्च पेज पर मजेदार गेम कैसे खेले ?
> मालवेयर क्या हैं ? मालवेयर अटैक से कैसे बचे?
> थर्मामीटर क्या होता है ? कैसे काम करता है?
> End to End Encryption क्या होता है ?

टू स्टेप वेरीफिकेशन के नुकसान क्या होते है? Disadvantages of two step verification?

# टू स्टेप पास करने के लिए बहुत सारा टाइम लगता है

दोस्तों अगर आपने किसी सोशल मीडिया साइट पर अपने अकाउंट के लिए उस टू स्टेप वेरिफिकेशन का सिक्योरिटी लगाया है तो आपको बहुत सारा टाइम लगता है वह अकाउंट किसी दूसरे Device पर अपना अकाउंट ओपन करने के लिए ।

या फिर आपको किसी चीज से अपना अकाउंट साइन इन या ओपन करना होता है तो उस कंपनी द्वारा भेजा गया वेरिफिकेशन कोड आपके मोबाइल फोन नंबर तक आने के लिए बहुत सारा टाइम लगता है और मैंने भी अपने फेसबुक के लिए डबल टू स्टेप वेरिफिकेशन लगाया था जिससे मुझे ऑफ करना पड़ा ।

क्योंकि फेसबुक के द्वारा मुझे वेरिफिकेशन कोड आने में कम से कम 30 मिनट से लेकर 40 मिनट तक का टाइम लगा वह मैसेज कोड आने के लिए और तब जाकर वह स्क्कांउट साइन इन हो गया।  तो इससे हमारे महत्वपूर्ण काम काफी लंबे देर तक रुक जाते हैं और हमें वह डबल वेरिफिकेशन कोड को पार करना होता है ।

# मोबाइल फोन का दूर होने पर

तो आपने भी किसी सोशल मीडिया अकाउंट पर 2 स्टेप वेरिफिकेशन ऑन रखा है और अगर आपका फोन बाय चांस आपसे किसी कारण दूर हो और आपको टू स्टेप वेरिफिकेशन को सबमिट करके साइन इन करना है तो ऐसे में वह मैसेज आप तक पहुंचने में बहुत सारा टाइम लग जाता है ।

क्योंकि पहले से वह सोशल मीडिया का वेबसाइट काफी देर बाद वह वेरिफिकेशन मैसेज भेजता है और ऊपर से अगर आप अपने डिवाइस से दूर होते हो तो और भी ज्यादा वक्त एप्लीकेशन वह वेरिफिकेशन कोड ले लेता है और इसकी वजह से आपको साइन इन करने के लिए भी काफी सारा वक्त इससे लग जाता है ।

# एरिया में Low Network का होना

दोस्तों अगर आप किसी गांव जैसे जगह पर रहते हो तो वहां पर काफी कम नेटवर्क पहुंचता है या नेटवर्क की कमी की वजह से सही तरह से इंटरनेट काम नहीं कर पाता है और ऐसे में अगर आप टू स्टेप वेरिफिकेशन का अकाउंट साइन इन करने की कोशिश करोगे तो इसमें आपका बहुत सारा टाइम लग जाएगा ।

क्योंकि टू स्टेप वेरिफिकेशन में कई सारे प्रोसेस को फॉलो करते हुए अपना अकाउंट साइन इन करना होता है और लो नेटवर्क में यह काम इतना आसान और सिंपल भी नहीं है क्योंकि कंपनी या ऐप से आने वाले नोटिफिकेशन कई बार E-mail अकाउंट पर आते हैं या फिर फोन नंबर में भी आते हैं और कम नेटवर्क की वजह से आप वह जल्दी से पा नहीं सकते हो ।

इसलिए भी टू स्टेप वेरीफिकेशन काफी नुकसानदायक है अगर आप एक बिजनेस चलाते हो या काफी बड़ी कम्युनिटी आपने बनाई हुई है और काफी जल्दी आपको साइन इन हो ना हो तो लो नेटवर्क की वजह से आपको उस काम में ज्यादा टाइम लगेगा ।

Two step verification ऑफ करें या नहीं? Off two step verification or not?

दोस्तों दोस्तों वेरिफिकेशन को ऑफ करें या नहीं यह पूरी तरह से आप पर निर्भर है । पर अगर आपका अकाउंट काफी सिक्योर रखना चाहते हो तो आपको वह टू स्टेप वेरिफिकेशन ऑन ही रहने देना है । जैसे कि अगर आप कोई ब्लॉगर हो या फिर आप एक बिजनेसमैन हो या फिर आप के पैसे के लेनदेन बहुत सारे होते हैं , या आप कोई बड़ी नामांकित व्यक्ति हो तो आपको अपना टू स्टेप वेरीफिकेशन ऑन ही रखना है ।

अगर आप काफी सिंपल तरीके से अपना सोशल मीडिया अकाउंट इस्तेमाल करते हो तो आप इस टू स्टेप वेरिफिकेशन को ऑफ कर सकते हो । ऑफ करने के बाद भी अपना सिंगल सिक्योरिटी शुरू ही रह जाएगा यानी कि दूसरा व्यक्ति अगर किसी भी वजह से आपका अकाउंट साइन इन करने की कोशिश करेगा तो उसे पासवर्ड तो देना ही होगा । टू स्टेप वेरिफिकेशन आपको बेहतर सिक्योरिटी दे देता है यही दोनों सिक्योरिटी का फर्क है ।

टू स्टेप वेरीफिकेशन कैसे ऑफ करें? How to turn off two step verification?

दोस्तों किसी भी सोशल मीडिया के अकाउंट का टू स्टेप वेरिफिकेशन ऑफ करने के लिए सिंपल सी प्रोसेस होती है और आपको में को बताऊंगा वह स्टेप बाय स्टेप फॉलो करना है जिसके बाद आप टू स्टेप वेरिफिकेशन ऑफ कर सकते हो । इसके लिए आपको उस अकाउंट के उसी जगह जाना है जहां से आपने वह टू स्टेप वेरीफिकेशन शुरू किया था । जैसे कि सबसे पहले वह सोशल मीडिया का अकाउंट ओपन या साइन इन करें ।

उसके बाद सेटिंग में जाए सेटिंग में आपको सिक्योरिटी का ऑप्शन तो हर एक सोशल मीडिया साइट पर मिल ही जाता है , आप सीक्यूरिटी ऑप्शन में एंटर करे । उसके बाद ऑथेंटिकेशन या फिर टू स्टेप वेरिफिकेशन का ऑप्शन आपको मिल जाते हैं । याद रखे फेसबुक में टू स्टेप वेरिफिकेशन को ही ऑथेंटिकेशन कहा जाता है और बाकी सोशल मीडिया साइट पर टू स्टेप वेरिफिकेशन कहते हैं ।

वेरिफिकेशन को आप को ऑफ करना ही है तो ऑफ करने के लिए आपको अपना पासवर्ड या फिंगरप्रिंट भी फिल अप करना पड़ सकता है । दोस्तों यह तो हो गई साइन इन हो चुके अकाउंट का टू स्टेप वेरिफिकेशन ऑफ करने की स्टेप ।

पर अगर आपको अपने फेसबुक अकाउंट पर साइन इन होने में ही अगर दिक्कत आ रही है और आप चाहते हो कि वह टू स्टेप वेरिफिकेशन आप बाहर से ही बिना साइन इन किए ऑफ करें तो इसके लिए भी मैं एक आर्टिकल आपके लिए इस वेबसाइट पर पब्लिश कर दिया है ।

आप वह देख सकते हो मैं नीचे आपको उस आर्टिकल की लिंक दी है । अगर आप गूगल अकाउंट को बिना साइन इन करें ही उसका टू स्टेप वेरिफिकेशन ऑफ करना चाहते हो वह भी काफी आसानी से तो आपको उसका भी एक लिंक मिल जाएगा पर अभी तक मैंने उसके लिए कोई आर्टिकल नहीं लिखा है पर जल्द ही उस पर भी एक आर्टिकल आपको मिल जाएगा ।

>> फेसबुक का टू स्टेप वेरिफिकेशन कैसे ऑफ करें?

दोस्तो इस पोस्ट में हमने जाना कि ” टू स्टेप वेरीफिकेशन के नुकसान क्या होते है? टू स्टेप वेरिफिकेशन ऑफ करें या नहीं? टू स्टेप वेरीफिकेशन कैसे ऑफ करें?

तो दोस्तों यह आर्टिकल कैसा लगा COMMENT जरूर करें । अगर इस आर्टिकल से जुड़ा आपका कोई सवाल है तो कृपया कमेंट बॉक्स में जरूर पूछें । ताकि आपके साथ और भी लोगों की परेशानी दूर हो । अगर आर्टिकल अच्छा लगे तो इसे अपनों में और आपके पसंदीदा सोशल मीडिया वेबसाइट पर SHARE जरूर करें । अन्य सोशल मीडिया साइट पर हमारे नोटिफिकेशन पाने के लिए कृपया हमें आपके पसंदीदा सोशल मीडिया साइट पर फॉलो भी करें ।

ताकि हमारा आने वाला कोई भी आर्टिकल आप मिस ना कर सको । हमें Facebook, Instagram, Twitter, Pinterest और Telegram पर फॉलो करें । साथ में हमारी आनेवाली पोस्ट के ईमेल द्वारा Instant Notification के लिए FeedBurner को SUBSCRIBE करें ।


जब रेस लम्बी हो तो यह मायने नहीं की कौन कितनी तेज भाग रहा है मायने यह रखता है की कौन कितनी देर तक भाग सकता है। OKTECHGALAXY.COM / Motivation

thank you logo,