नमस्कार दोस्तों मेरा नाम है ओंकार । मेरी वेबसाइट OKTECHGALAXY.COM पर आपका स्वागत है । आने वाले कॉल यूजर के नाम जानना किसे पसंद नहीं होता ऐसे में इंटरनेट पर कई सारे एप्लीकेशन मौजूद है। जो आपको कॉल करने वाले का नाम बता देते है। ऐसे में इंटरनेट पर एक बेस्ट एप्लीकेशन है।

जो इस काम को बखूबी करता है। इसके लिए आपको ट्रूकॉलर नामक एप्लीकेशन लेना पड़ेगा यह एप्लीकेशन काफी यूजर फ्रेंडली है। और रेटिंग के हिसाब से इस पर काफी पसंद किया जाता है। अब एप्लीकेशन किस तरह से काम करता है। और क्या कुछ इसके फायदे है। यह आज हम इस आर्टिकल में जानेंगे

इस पोस्ट में आपको नया इंटरेस्टिंग और यूज़फुल जानने को मिलेगा कि ट्रूकॉलर क्या है? ट्रूकॉलर पर प्रोफाइल कैसे बनाएं? ट्रूकॉलर की प्रोफाइल कैसे एडिट करें और ट्रूकॉलर के फायदे क्या है।

ट्रूकॉलर क्या है, What is a truecaller, truecaller kya hai, ट्रूकॉलर कैसे डाउनलोड करे, How to download Truecaller, Truecaller kaise downlod kare, ट्रूकॉलर प्रोफाइल कैसे बनाएं, How to create Truecaller Profile, Truecaller Profile kaise banaen, ट्रूकॉलर प्रोफाइल एडिट कैसे करें, ट्रूकॉलर के फायदे.
ट्रूकॉलर क्या है? How to create Truecaller Profile?

ट्रूकॉलर क्या है?

दोस्तों ट्रूकॉलर के मालिक और फाउंडर Alan Mamedi है। । यह एप्लीकेशन ऑफीशियली रिलीज 2009 में किया गया था । इससे पहला रिलीज एंड्राइड और एप्पल के लिए किया गया था । ट्रूकॉलर एक प्राइवेट या निजी कंपनी है।

ट्रूकॉलर कॉल आईडेंटिफिकेशन कॉल ब्लॉकिंग और रिकॉर्डिंग जैसे काम भी करता है। पर ट्रूकॉलर को इस्तेमाल करने के लिए इंटरनेट सुविधा होना जरूरी है। अगर इंटरनेट सुविधा नहीं है। तो इसे इस्तेमाल किया जाता है। पर सेम कांटेक्ट आपने पहले से सर्च किया हुआ होना चाहिए ।

अगर कोई यूजर अपनी प्रोफाइल इनफॉरमेशन अपडेट करता है। और अपडेट किए हुई इंफॉर्मेशन ऑफ बिना इंटरनेट के सर्च करते हो तो वह सर्च नहीं होगी क्योंकि नई इंफॉर्मेशन कलेक्ट करने के लिए आपके पास डाटा नहीं होगा ।

दोस्तों ट्रूकॉलर एक सॉफ्टवेयर है। जो एंड्रॉयड और एप्पल स्टोर पर भी मौजूद है। यह कॉलर इंफॉर्मेशन एक दूसरे को बताता है। इसके लिए आपको अपने एक्टरों का आधार आईडी तैयार करनी पड़ती है। अगर आप इस ऐप को यूज नहीं करते हो और आपने कॉलर आईडी बनाई हुई है। तो आप किसी भी यूजर का इंफॉर्मेशन नहीं देख सकते हो इसके लिए आपको एप्लीकेशन मोबाइल में इंस्टॉल होना जरूरी है।

अगर दो स्मार्टफोन में ट्रूकॉलर इंस्टॉल है। और दोनों स्मार्ट फोन में कॉलर ने आईडी बनाई हुई है। तो ही आप सही से एक दूसरे की इंफॉर्मेशन जान सकते हो तो इसकी एक खास बात यह है। कि आप जो भी यूजर नेम और ईमेल आईडी या फिर एड्रेस वही इंफॉर्मेशन सामने वाले युवकों पता चलती है। यानी कि आपने ट्रूकॉलर पर गलत नाम ऐड किया हुआ है। तो वह भी दिखाई देगा

किसी टेलीकॉम कंपनी के पास जितना डाटा नहीं होगा उससे कहीं अधिक डांटाए आज ट्रूकॉलर के पास हो सकता है। क्योंकि बाकी आपकी तरह ही ट्रूकॉलर इंफॉर्मेशन कलेक्ट करता है। पर उसका इंफॉर्मेशन पर यह इंफॉर्मेशन कहीं भी जगह इस्तेमाल नहीं की जाती है। ऐसा कहा जाता है।

पर ऐसा होता नहीं है। एक बार ट्रूकॉलर पर आप अकाउंट बनाते हो तो आपके कई सारे नंबर ट्रूकॉलर के पास चले जाते है। जिसके बाद आपको अलग-अलग ऐड आने लगती है। या फिर आपके नंबर को किसी दूसरी कंपनी में बेच आ भी जा सकता है। इसलिए यह काफी खतरनाक माना जाता है।

ट्रूकॉलर इंस्टॉल करने के बाद आपसे कांटेक्ट के लिए भी एक्सप्रेस मांग लेता है। जो पूरे चांसेस है। कि आपसे कांटेक्ट एक्सप्रेस लेने के बाद वह उस नंबर को गलत तरीके से इस्तेमाल करेगा । अब यहां पर ऐसा कोई रोल नहीं है। कि आप अकाउंट डिलीट करने के बाद वह नंबर ट्रूकॉलर के सरवर से डिलीट किए जाएंगे इसलिए आप के कोंटेक्ट हमेशा ट्रूकॉलर पर खतरे में ही रहते है।

ट्रूकॉलर कैसे डाउनलोड करे?

दस्त और ट्रूकॉलर आपको कई सारे प्लेटफार्म पर इस्तेमाल करने को मिलेगा तो मैं आपको यहां पर एंड्राइड एप्पल और बाकी एप स्टोर के लिंक दे देता हूं जहां से आप वह डाउनलोड कर सकते हो यह एप्लिकेशन साइज में काफी छोटा एप्लीकेशन नहीं है। पर इतना बड़ा थी कि है। कि आपके मार्ट फोन को एंकर देय आपसे स्मार्टफोन में काफी आसानी से काम करेगा और आपके स्मार्टफोन का स्टोरेज थी ज्यादा नहीं यूज करेगा

ट्रूकॉलर प्रोफाइल कैसे बनाएं?

200 ट्रूकॉलर पर अकाउंट बनाना काफी आसान है। इसके लिए आपको सबसे पहले दी गई लिंक द्वारा ट्रूकॉलर एप्लीकेशन को डाउनलोड और इंस्टॉल कर लेना है। इंस्टॉल करने के बाद आप तो फादर को ओपन करें और आपको क्रिएट प्रोफाइल या मेक अकाउंट पर क्लिक कर देना है।

इसके बाद आपको अपने किसी भी मोबाइल नंबर को एंटर कर देना है। साथ में फर्स्ट नेम लास्ट नेम के साथ ईमेल आईडी और लोकेशन भी ऐड कर देनी है। लोकेशन आप अपने हिसाब से ऐड कर सकते हो या लोकेशन ऐड ना करें तो भी कोई प्रॉब्लम नहीं है।

यह ऑप्शन ऑप्शनल की तौर पर दिया गया है। इसके बाद प्रोफाइल को सेव कर दीजिए आप जो भी इंफॉर्मेशन अपनी प्रोफाइल में सबमिट करोगे वही सामने वाले यूजर को  आपका मोबाइल नंबर सर्च करने के बाद जो होगी।

ट्रूकॉलर प्रोफाइल एडिट कैसे करें?

दोस्त और ट्रूकॉलर पर अकाउंट बनाना जिस तरह एक आसान और सिंपल प्रोसेस से उसी तरह प्रोफाइल को एडिट करना भी सिंपल प्रोसेस से सबसे पहले आपको ट्रूकॉलर ओपन करके अपनी प्रोफाइल में एंटर हो जाना है। एडिट प्रोफाइल लिया अपडेट प्रोफाइल पर क्लिक करना है। और अपने हिसाब से अपनी प्रोफाइल में चेंज करने है। उसके बाद प्रोफाइल को सेव कर देना है।

ट्रूकॉलर के फायदे क्या है?

200 ट्रूकॉलर का सबसे बड़ा फायदा यह होता है। कि आने वाली कॉल आईडेंटिफाई कर सकते हो या नहीं कि किसी की भी कॉल आने के बाद आप उसका नाम और एड्रेस जान सकते हो बस एड्रेस में आप उसका प्रॉपर ऐड्रेस यानी कि पूरा एड्रेस नहीं जानते हो

प्रो का दर काफी हद तक ऑफलाइन ही काम करता है। जैसे कि मैंने बताया आप ऑफलाइन में यूजर की पुरानी डिटेल देख सकते हो नए डिटेल जानने के लिए आपको इंटरनेट की आवश्यकता होती है।

ट्रूकॉलर काफी यूजर फ्रेंडली है। और कोई भी साधारण यू जरा इसे इस्तेमाल कर सकता है। इसका इंटरफ़ेस आइसक्रीम मजेदार और यूज़फुल है। आप अपने मोबाइल का कॉलिंग सेक्शन और ट्रूकॉलर का कॉलिंग सैंक्शन देखेंगे तो आपको वह दोनों का फिर से मिलेंगे

वफादार यूज करने के नुकसान

दोस्त होटल फादर का सबसे बड़ा यह नुकसान है। कि आपका डाटा जाने के कांटेक्ट नंबर का के खतरे में रहते है। और आपको इससे हमेशा याद आते रहते है। एप्लीकेशन के एडवरटाइजिंग की कोई बात नहीं है। पर कांटेक्ट जो सबसे इंपॉर्टेंट होते है। उस पर ही ज्यादा खतरा बना रहता है।

10 तो आज दोपहर के पास लगभग 50 करोड़ से ज्यादा कांटेक्ट मौजूद है। जिसका यूज़ वैसे तो ट्रूकॉलर को वैसे तो ज्यादा होता होगा क्योंकि छोटे छोटे अमाउंट में अगर कांटेक्ट की अदला-बदली होती है। या खरीदी बिक्री होती है। तो इससे कंपनी को काफी फायदा पहुंचता है। जो कि करोड़ों रुपए में हो सकता है।