You are currently viewing Smartphone Chargers पर दिए सिंबल का मतलब जाने ?

Smartphone Chargers पर दिए सिंबल का मतलब जाने ?

नमस्कार दोस्तों मेरी वेबसाइट पर आपका फिर से एक बार स्वागत है। दोस्तों आजकल कई सारे चारजर आने लगे है। जिसमें कई सारे फीचर्स मौजूद है। तो इंचार्ज आर के बारे में हमने पिछले एक पोस्ट में साथी इंफॉर्मेशन भी है। वह पोस्ट चारजर के प्रकार के लिए अपलोड किया गया था पर कई सारे चारजर पर ऐसे सिंबल होते है। जिनका मतलब आपको समझ में आना जरूरी है। इसीलिए मैंने यह पोस्ट आपके लिए काफी सारी रिसर्च कर कर बनाया और पब्लिश किया गया है। तो क्या होते है। उन चारजर के ऊपर के सिंबल का मतलब यह आज के इस पोस्ट में हम जानेंगेे

तो दोस्तों चार्जर के ऊपर लगे हुए या फिर प्रिंट किए हुए आइकन क्या फिर सिंबल आपको क्या बताएंगे यह एक काफी रात की बात होती है। कि क्योंकि कई सारे चार्जर काशी एक जैसे होते है। कई सारी कंपनियां एक-दूसरे का मॉडल कॉपी भी करती है। तो इस वजह से उन सिंबल को समझना काफी जरूरी है। तो मैं आपको चार्जर के ऊपर लगे हुए हर एक सिंबल का मतलब पूरी तरह से समझाने की कोशिश करूंगा तो इस आर्टिकल को पूरा जरुर पढ़े और कमेंट करके बताएं कि आर्टिकल कैसा लगा

चार्जर के ऊपर दिए गए सिंबल का मतलब क्या है।?

तो दोस्तों स्मार्ट फोन के चार्जर पर कुछ साइन ऐसे होते है। जो जरूरी होते है। तो ऐसे सही भी शाम को या फिर सिंबल को आज हम देखेंगे और आपको यह जानकर काफी है।रानी होगी कि छोटी सी बैटरी पर भी जरूरी साइन कैसे काम करते है।

डबल स्क्वायर साइन

दोस्तों कहीं बैटरी हो पर डबल्स स्क्वायर यानी कि चौक कौन दिए जाते है। और यह दो चौकों और एक छोटा और एक बड़ा स्थिति में प्रिंट किए होते है। अब यहां पर आपको समझना होगा इन सिंबल का मतलब क्या है। अब जहां पर यह साइन होता है। उस चार्जर को वायर इंसुलेटेड बनाया गया है। ऐसा माना जाता है। और यह जरूरी साइन है। क्योंकि अगर अब कोई भी बाहरी डिवाइस या फिर वायर वगैरह इसके साथ कनेक्ट करते हो तो इससे किसी को करंट नहीं लगेगा ऐसा माना जाता है। इसलिए यह सिंबल काफी जरूरी होता है।

क्रॉस डस्टबिन सिंबल

दोस्तों स्मार्टफोन के बैटरी के ऊपर भी एक डस्टबिन का आइकन दिया जाता है। और यह सिंबल के ऊपर एक टेडी दो रेखाएं बनाई जाती है। जिसे क्रॉस कहा जाएगा तो यह डस्टबिन का सिंबल यह दर्शाता है। कि कृपया बैटरी खराब होने के बाद इसे डस्टबिन में ना सके क्योंकि कई बार वह डस्टबिन का कचरा कूड़ेदान से सीधा डंपिंग यार्ड तक जाता है। और डंपिंग यार्ड में आग लगने के चांसेस भी होते है। और ऐसी आग ऐसी बैटरी स्कोर लास्ट करवा सकती है। इसलिए बैटरी को सिक्यॉरली रखे या फिर सर्विस सेंटर में दोबारा से जमा करें

8 अंक वाला सिंबॉल

दोस्तों कई मोबाइल चार्जर पर आठ अंक वाला एक सिंबल होता है। यह थोड़ा सा बोल्ड होता है। और इसमें आधा आधा हाथ कट किया हुआ देखने को मिलता है। यह साइन भी एक चार्जर के लिए काफी जरूरी होता है। । क्योंकि इससे पता चलता है। कि इस चार जने सारे मानकों को पूरा कर लिया है। और यह चर्चा पूरी तरह से ट्रस्ट एंड है। अगर ऐसा साइन आपके किसी चारजर पर नहीं है। तो समझ लेना उस चार्जर ने किसी भी गुणवत्ता को पास नहीं किया है। और यह किसी थर्ड पार्टी ने या फिर किसी कंपनी ने कॉपी किया है। या फिर डुप्लीकेट प्रोडक्ट आपने खरीदा है।

यह सिंबल आपको चारजर असली और नकली की पहचान कर देगा इसीलिए इस सिंबल को ज्यादा महत्व दिया जाता है। आजकल कई सारी कंपनियां कम बजट यूज करके या फिर कम से कम पैसों में उससे 4 गुना 8 गुना कमाना चाहती है। और जो ट्रस्टेड चार्जर होते है। वही ऐसे बल प्रिंट करने का अधिकार रखते है। और जो ट्रस्टेड कंपनियां नहीं है। वह ऐसे आइकन प्रिंट करने का अधिकार नहीं रखती है।

होम का सिंबल 

दोस्तों सभी चार्जर एक पर्याप्त मात्रा के वोल्टेज पर काम करते है। या फिर आपके स्मार्टफोन को चार्ज करने का काम करते है। तो इन चार्जर को एक निश्चित वोल्टेज की ही जरूरत होती है। और इससे ज्यादा या फिर हाई वोल्टेज पर यह चार्जर आपके स्मार्टफोन को खराब कर सकते है। तो होम का सिंबल इसलिए होता है। कि इसमें जो भी वोल्टेज प्रोवाइड किया जाएगा वह होम यानी कि घर के वोल्टेज के बराबर ही सही होगा अगर बाहरी कनेक्टिविटी से इन्हें जोड़ा जाए अगर आप यह सोचोगे कि अगर हाई वोल्टेज में चार्ज लगाकर स्मार्ट फोन चार्ज किया जाए तो यह चार्जिंग करने का एक गलत तरीका है। और इसीलिए यह होम सिंबल काम करता है। कि चार्जर को होम वोल्टेज के साथ ही कनेक्ट करें

CE Symbol

दोस्तों कई 4000 पर CE अल्फाबेट्स के भी कुछ सिंबल होते है। अब यह सिंबल वैसे तो कुछ जरूरी नहीं होते पर फिर भी इन्हें प्रिंट किया जाता है। तो दोस्तों इस CE का मतलब Conformité Européenne (यूरोपीय अनुरूपता) है। और यह एक ऐसा चिह्न है। जिसे यूरोपीय आर्थिक क्षेत्र (EEA) में उत्पादित और/या बेचे जाने के लिए विद्युत उपकरणों को ले जाना चाहिए।

दोस्तों यह सिंबल भी कई तरह से आपको डुप्लीकेट प्रोडक्ट प्रोवाइड कर सकता है। जब भी यह प्रोडक्ट का सिंबल ऑफ देखे तो और के बीच में अगर काफी अंतर है। तो यह समझ लेना कि वह प्रोडक्ट एकदम ओरिजिनल प्रोडक्ट है। और अगर सी और इ के बीच में अगर कोई भी ज्यादा अंतर नहीं है। तो समझ लेना कि इस प्रोडक्ट को चाइना द्वारा कॉपी किया है। या फिर डुप्लीकेट बनाकर बेचने की कोशिश की है।

मेक इन इंडिया साइन

दोस्तों आज कई सारे ऐसे चीज है। जिस पर मेक इन इंडिया का साइन देखने को मिलता है। जिसमें शेर दिखाया जाता है। सर यह चार्जर पर अभी तक प्रिंट किया हुआ नहीं देखने को मिलता और मेरे ख्याल से इंडियन स्मार्टफोन कंपनियों द्वारा मेक इन इंडिया का लोगो भी चार्ज योर स्माटफोन या फिर कैसा है। इलेक्ट्रॉनिक चीजें हो उस पर प्रिंट जरूर करवाना चाहिए तो मेरे ख्याल से यह काफी प्राउड फील करवाने वाली बात होगी

दोस्तों मैंने कई तरह से और कहीं सिंबल का मतलब इस पोस्ट द्वारा अब तक पहुंचाने की कोशिश की है। और मेरे ख्याल से यह पोस्ट आप सभी को एक नई जानकारी देगा साथ में चार्जर के प्रति आपको ज्यादा जागरूक करेगा ऐसा मुझे लगता है। तो आपको यह पोस्ट किस तरह से बेहतर लगा और कौन सी जानकारी आपने इस से सीखी मुझे जरूर बताएं

OMkar005

दोस्तो मेरा नाम ओंकार है और यह बात आपको हर पोस्ट मे बताई है. मे एक ब्लॉगर के साथ Photo, Video editor, Youtuber, Motivator, SEO Expert हू. और डोमेन और होस्टिंग भी लो प्राइस में देता हु. आर्ट में ग्रेजुएशन की पढ़ाई भी कर रहा हु. मेरे वेबसाइट पर ब्लॉग शेयर करने का एक अलग तरीका यह है की में एकसाथ 20 से 25 पोस्ट पब्लिश करता हु, जो काफी लोगो को पसंद भी है. अगर आपको भी वेबसाइट में दी गयी केटेगरी में से कोई विषय पर आर्टिकल पढ़ना पसंद है तो, हमेशा वेबसाइट विजिट करे और निचे दिए गए सोशल मीडिया से हमसे जुड़े रहे, ताकि आप कोई पोस्ट कभी मिस न करे.

कमेंट से अपना सहयोग जताये. ✍️✌️❤️