नमस्कार दोस्तों मेरा नाम है ओंकार और मेरी वेबसाइट OKTECHGALAXY.COM पर आपका फिर से एक बार स्वागत है । आज के पोस्ट का टाइटल देखकर ऐसा लग रहा होगा कि यह कैसा सवाल है कि फिल्मों जैसे टेक्नोलॉजी Future Film technology Real में बन सकती है या नहीं?? तो दोस्तो इसी विषय पर आज हम काफी विस्तार से जानेंगे ।

दोस्तों यह सवाल नई पीढ़ी के व्यक्ति या स्टूडेंट के मन में आना काफी साधारण सी बात है क्योंकि आज जिस तरह से टेक्नोलॉजी बदल रही है , उस हिसाब से अगर देखा जाए तो फिर फिल्मों जैसी टेक्नोलॉजी आना तो संभव लगता है । तो इसके लिए क्या कुछ भविष्य में हो सकता है या फिर किया जा सकता है इसी विषय पर आज हम बात करेंगे ।

दोस्तों इस पोस्ट में आपको नया , इंटरेस्टिंग और यूजफुल जानने को मिलेगा की फिल्म टेक्नोलॉजी का इतिहास क्या है? क्या फिल्मों जैसी टेक्नोलॉजी भविष्य में बन सकती है? फिल्म जैसी टेक्नोलॉजी बनने के लिए क्या करना होगा? History of Film and Technology? Can technology like films be made in the future?

Films, Technology, Film Technology, Real Film Technology, Future Film Technology, Upcoming technology, Filmo jaisi technology, Aanewali film technology, फिल्म जैसी टेक्नोलॉजी, फिल्म टेक्नोलॉजी, Films ki upcoming technology, Movies ki aanewali technology, फिल्म और टेक्नोलॉजी का इतिहास, क्या फिल्मों जैसी टेक्नोलॉजी बन सकती है, फिल्म जैसी टेक्नोलॉजी बनने के लिए क्या करना होगा,
फिल्म टेक्नोलॉजी का इतिहास क्या है? Can technology like films be made in the future?
Popular Or Famous Contents .
> चाइनीज़ प्रोडक्ट इंडिया में बैन कैसे करे?
> कॉल आफ ड्यूटी गेम के रिवॉर्ड कैसे जीते?
> Share A Sale Affiliate Marketing क्या है?
> Debit Card के पीछे के नंबर का राज?
> गेम के लिए सही सेंसिटिविटी कैसे लगाए ?

फिल्म और टेक्नोलॉजी का इतिहास – History of Film and Technology

दोस्तों फिल्मों का दौर काफी सालों से चलता आ रहा है और शुरुआती दिनों में अगर बात करें तो फिल्में काफी कम मात्रा में बना कर दी थी और इसे साधारण भाषा में कहें तो वह डायरेक्टर फिल्मों में काफी कम टेक्नोलॉजी दिखाए थे । जिसे एक कैमरा काफी बड़ा होता था और वह सिर्फ एक के बाद एक फोटो क्लिक करता था और उसे एक फिल्म के रोल में प्रिंट कर देता था ।

जो कि उस रोल पर रोशनी डाल कर उसे पर्दे पर दिखाया जाता था । पर दोस्तों यह बात विकासशील देशों में हुआ करती थी पर जो काफी एडवांस देश थे या फिर बाकी देशों से काफी आगे निकल गए थे उनके फिल्म के टेक्नोलॉजी काफी अलग हुआ करती थी ।

जिसमें शुरुआती दिनों में जो कैमरे बन गए थे वह कैमरे काफी कम साइज के हो चुके थे और वह कलर प्रिंटिंग द्वारा फिल्म शूट कर देते थे और ऐसे ही थोड़ी थोड़ी करके टेक्नोलॉजी बढ़ती गई और फिर मैं आज 3D फिल्मों तक पहुंच गई है ।

तो दोस्तों यह हो गया शुरुआती कुछ फिल्मों का सिलसिला या फिर दौर । इसमें बाकी कई सारी चीजें भी बहुत आती थी । मगर इस पोस्ट द्वारा वह बातें जानने का कोई मतलब नहीं बनता है ।

दोस्तो आज के पोस्ट का मुख्य विषय है कि फिल्म और टेक्नोलॉजी में शुरुआती इतिहास क्या था तो हमने अभी ऊपर थोड़ा बहुत देख लिया है कि क्या कुछ इतिहास इसके बारे में रहा है । तो दोस्तों कुछ हॉलीवुड यानी कि इंग्लिश फिल्म में जो कुछ एडवांस टेक्नोलॉजी दिखाई जाती थी ।

जिसमें फिल्म में कैरेक्टर द्वारा सेंसर का इस्तेमाल या फिर टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया हुआ देखने को मिलता था जिसमें अलग-अलग छोटे-बड़े वेपन दिखाए जाते थे । पर तब अगर यह बातें रियल लाइफ से जोड़ी जाती तो वह काफी अनसुना लगता था , क्योंकि तब ऐसा लगता था कि वो फिल्मी बातें तो फिल्म में ही सो सकती है ।

रियल लाइफ में नहीं हो सकती है , ऐसा ही लगता था । पर अगर मेरी बात मानो तो आपको यहां पर बता दूं कि , जो टेक्नोलॉजी 1950 में या फिर उसके बाद हॉलीवुड फिल्मों में दिखाई जाती थी वही टेक्नोलॉजी रियल लाइफ में आ गई है या तैयार होने लगी है ।

जिसमें वह बुलेप्रूफ जैकेट , स्मॉल वेपन , फोल्डेबल फोन फिल्मों में दिखाए थे वह एडवांस चीजें आज बन चुकी है । यहां पर ही आपको आपका जवाब मिल जाएगा कि भविष्य में फिल्मों जैसी टेक्नोलॉजी बन सकती है या नहीं ।

क्या फिल्मों जैसी टेक्नोलॉजी भविष्य में बन सकती है? Can technology like films be made in the future?

दोस्तों क्या भविष्य में फिल्मों जैसी टेक्नोलॉजी बन सकती है या नहीं यह जवाब भी काफी रहस्यमय है । क्योंकि जो भी टेक्नोलॉजी फिल्मों में दिखाई जाती है वह वास्तविकता में नहीं होती है उसे एक स्टोरी के जरिए या फिर कल्पनिक रूप से तैयार किया जाता है ।

मगर हमारे वैज्ञानिक , इंजिनियर या टेक्नीशियन वह टेक्नोलॉजी अस्तित्व में लाने के लिए काफी प्रयत्नशील होते हैं । और वह ऐसी टेक्नोलॉजी तैयार करने में लग जाते हैं इसलिए जो फिल्मों में दिखाई गई है ऐसी टेक्नोलॉजी भविष्य में बन सकती है ।

यहां पर दोस्तों सिर्फ टेक्नोलॉजी की बात कर रहे हैं अगर आपको लगता है कि एलियन या परग्रहवासी धरती पर आना तो यह कोई नहीं जानता है कि एलियन होते हैं या नहीं? तो इस हिसाब से हम इस पोस्ट में कुछ नहीं कह सकते हैं कि एलियन भी भविष्य में इस धरती पर आएंगे हम सिर्फ टेक्नोलॉजी का मुद्दा यहा पोस्ट में देख रहे हैं ।

दोस्तों बीते कल की बात करें तो हमें फिल्मों में बड़े बड़े सेट , लैब या एडवांस शहर या एडवांस बिल्डिंग देख चुके हैं साथ में रोबोट्स और टाइम ट्रेवल जैसी चीजों का भी हमने कई सारे फिल्मों में अनुभव ले लिया है ।

तो इसमें से आज की बात करें तो हमें काफी जगह पर एडवांस लैब और शहर देखने को मिलते हैं जो पूरी तरह से ऑटोमेटिक लिए होते हैं और यह नजारा आपको चीन के ताइवान जैसी शहर में देखने को मिल जाएगा जहां पर काफी एडवांस शहर देखने को मिलते हैं ।

अगर बिल्डिंग्स की बात करें तो 360-degree घूमने वाली Skyscraper Building भी हमें चीन जैसे देश में देखने को मिलती है । अगर रोबोट्स की बात करो तो विकसित देशों में आज भी रोबोट्स बनाए जाते हैं या फिर इसका इस्तेमाल किया जाता है ।

अगर विकासशील देशों की बात करें तो हमें रोबोट्स देखने को मिलते हैं पर वह सिर्फ मशीनी रोबोट्स होते हैं जो कि किसी कंपनी में देखने को मिल सकते हैं या उसका अनुभव ले सकते हैं । तो दोस्तों इससे आपको पूरी तरह से अंदाजा आ गया होगा कि फिल्मों जैसे टेक्नोलॉजी भविष्य में पूरी तरह से बन सकती है ।

मगर इसके लिए कितना समय लगेगा यह अभी तक तो कोई नहीं जानता है पर मेरे हिसाब से अगले 20 सालों में दुनिया काफी बदल चुकी होगी ।

फिल्म जैसी टेक्नोलॉजी बनने के लिए क्या करना होगा? What needs to happen to become a technology like film?

दोस्तों फिल्मों जैसी टेक्नोलॉजी बनने के लिए या फिर बनाने के लिए काफी एडवांस नॉलेज की जरूरत पड़ेगी साथ में अगर नॉलेज है तो ऐसी टेक्नोलॉजी बनाने के लिए बहुत सारा पैसा इन्वेस्ट करना पड़ सकता है जो कि करोड़ों की लागत से बनकर तैयार होगा ।

अगर बात करें फिल्मों जैसी टेक्नोलॉजी भविष्य में बनाने की तो इसके लिए एक आदमी या फिर व्यक्ति से वह नहीं बन सकती इसलिए काफी सारे लोग एक हो कर ऐसी टेक्नोलॉजी बना सकते हैं जो फिल्मों में दिखाई जाती है ।

जिससे पैसे भी ज्यादा इकट्ठा हो सकते हैं और ऐसी टेक्नोलॉजी बनाने के लिए लोगों की जरूरत भी पूरी हो जाएगी क्योंकि जो भी लोग या इंजीनियर ऐसी टेक्नोलॉजी बनाएंगे उनका जो पेमेंट या फिर सैलरी होगी वह भी काफी ज्यादा होगी और ऐसी टेक्नोलॉजी बनाने के लिए इंस्ट्रूमेंट या वेपन भी बहुत बड़ी मात्रा में लगेंगे ।

दोस्तों आज हम जो शिक्षा ले रहे हैं वह या तो स्कूल कॉलेज में जाकर ले रहे हैं या फिर मोबाइल कंप्यूटर द्वारा घर बैठकर ऑनलाइन कोर्स करके ले रहे हैं यह भी शिक्षा की ओर एक अच्छा कदम है । तो तय है कि ऑनलाइन सीखने में और कॉलेज में जाकर सीखने में बहुत ही फर्क होता है ।

इसके ऊपर हम एक पूरा आर्टिकल लेकर आएंगे जो आप आगे जाकर पढ़ सकते हो तो अगर आज का टेक्नोलॉजी हमें ऑनलाइन कोर्स पूरा करने या सीखने की उम्मीद दे देता है तो ऐसी फिल्में टेक्नोलॉजी बनाने की भी उम्मीद हमें भविष्य में पूरी तरह से नजर आती है ।

क्योंकि टेक्नोलॉजी हमेशा बदलती रहती है तो आगे जाकर हमारे सीखने की भी तरीके बदल सकते हैं और इसीलिए फिल्मी टेक्नोलॉजी हम भविष्य में अवश्य ही बना सकते हैं ।

दोस्तो इस पोस्ट में हमने जाना कि ” फिल्म टेक्नोलॉजी का इतिहास क्या है? क्या फिल्मों जैसी टेक्नोलॉजी भविष्य में बन सकती है? फिल्म जैसी टेक्नोलॉजी बनने के लिए क्या करना होगा?

तो दोस्तों यह आर्टिकल कैसा लगा COMMENT जरूर करें । अगर इस आर्टिकल से जुड़ा आपका कोई सवाल है तो कृपया कमेंट बॉक्स में जरूर पूछें । ताकि आपके साथ और भी लोगों की परेशानी दूर हो । अगर आर्टिकल अच्छा लगे तो इसे अपनों में और आपके पसंदीदा सोशल मीडिया वेबसाइट पर SHARE जरूर करें । अन्य सोशल मीडिया साइट पर हमारे नोटिफिकेशन पाने के लिए कृपया हमें आपके पसंदीदा सोशल मीडिया साइट पर फॉलो भी करें ।

ताकि हमारा आने वाला कोई भी आर्टिकल आप मिस ना कर सको । हमें Facebook, Instagram,  Twitter, Pinterest और Telegram पर फॉलो करें । साथ में हमारी आनेवाली पोस्ट के ईमेल द्वारा Instant Notification के लिए FeedBurner को SUBSCRIBE करें ।


कल के लिए सबसे बढ़िया तैयारी ये होगी कि आज आप अपना सबसे बेहतर प्रदर्शन करें। OKTECHGALAXY.COM / Motivation

Thank You, Thank You logo, Ty logo, Thank you very much,