नमस्कार दोस्तों , मेरा नाम है ओंकार और मेरी वेबसाइट OKTECHGALAXY.COM कर आपका फिर से स्वागत है । दोस्तों पिछले एक पोस्ट में हमने सिम कार्ड के पीछे के 19 आंकड़ों का क्या मतलब या फिर राज क्या होता है उसके बारे में बात की थी । उसके बाद मुझे अभी सारे कमेंट आ गए कि Debit Card ke Number ka Matlab क्या होता है तो वह बता दीजिए ।

तो दोस्तों हर एक कार्ड के नंबर के लिए कुछ राज तो जरूर होता ही है । जैसे कि आधार कार्ड , पैन कार्ड , एटीएम कार्ड क्रेडिट कार्ड या फिर डेबिट कार्ड या फिर हमारा घर का राशन कार्ड हो या फिर अन्य कोई भी कार्ड हो उनपर नंबर का कुछ ना कुछ राज जरूर होता ही है और यह राज कुछ इस तरह से होता है कि वह व्यक्ति की पहचान हो सके और उसकी लोकेशन का अंदाजा भी आ सके ।

इसीलिए वह आंकड़े काफी महत्वपूर्ण होते हैं तो अगर आपको भी किसी कार्ड के आंकड़ों का राज पता करना है या फिर जाना है तो मुझे कमेंट जरूर करें । दोस्तों आज हम देखेंगे डेबिट कार्ड के पीछे के नंबर का क्या राज होता है । ऐसे ही कई पोस्ट हम आनेवाली पोस्ट से जरूर जानने की कोशिश करेंगे ।

साथ में आपको क्या कुछ नया और इंटरेस्टिंग जाने को मिलेगा इसके बारे में भी मैं आपको बता देता हूं । तो इस पोस से आप जानोगे की डेबिट कार्ड के पीछे के नंबर का राज क्या होता है?

Debit Card, Debit Card ka raaz, Debit Card ke number ka raajh, Debit Card ke number ka raaz, Debit Card ke 16 number, Debit Card ke 16 number ki jaankari, Debit Card ke 16 number ki detail, Debit Card number ki jaankari, Debit Card number ki details, Debit Card number ki jaankari, Real meaning of Debit card,
Debit Card ke number ka raaz
Popular Or Famous Contents .
> End To End Encryption क्या है?
> गूगल के फ्री कोर्सेस कैसे सीखे?
> वर्ल्ड की पूरी लाइव पॉपुलेशन कैसे जाने?
> TikTok लाइव क्या होता है? कैसे शुरू करें ?
> प्लाज्मा थेरेपी क्या है? थेरेपी कैसे काम करती है

Debit Card के पीछे के नंबर का राज क्या होता है?

दोस्तों आज का जो जमाना है वह है ऑनलाइन ट्रांजैक्शन और डिजिटलाइजेशन का है । तो ऐसे में अगर आपको या किसी भी कार्ड धारक को ऑनलाइन पेमेंट करनी हो या फिर ट्रांजैक्शन करना हो तो डेबिट कार्ड का बहुत ही उपयोग होता हुआ हमको देखने को मिलता है । पर दोस्तों हर एक कार्ड के लिए एक यूनिक नंबर होता है और हर एक नंबर का अलग ही राज उस कार्ड पर छुपा हुआ होता है ।

तो आपको अगर ऐसा कोई कार्ड मिल जाता है या फिर आप खुद का भी कार्ड देखते हो तो आपको ऐसे कुछ नंबर देखने को मिलते हैं । दोस्तों यह जानकारी सिर्फ आपकी नॉलेज जाने की ज्ञान बढ़ाने के लिए है इसका दुरुपयोग ना करें और ना ही दूसरों का डेबिट कार्ड का इंफॉर्मेशन जानने की कोशिश करें ।

क्योंकि आप वह डेबिट कार्ड किसका है या फिर इस तरह से उसे इस्तेमाल किया जाता है जान भी नहीं सकते हो । अब मैं ऐसा क्यों कह रहा हूं यह आखिर में बताऊंगा । तो दोस्तों चले शुरू करते हैं और देखते हैं कि डेबिट कार्ड के उन आंकड़ों का राज क्या होता है |

दोस्तों इस डेबिट कार्ड के ऊपर 16 आंकड़े प्रिंटेड होते हैं और उसमें से छह आंकड़े Issuer Identification के लिए इस्तेमाल किए जाते हैं और अगले जो 9 आंकड़े होता हैं वह खाताधारक के आईडेंटिफिकेशन के लिए इस्तेमाल किए जाते हैं और लास्ट का 1 आंकड़ा रह जाता है वह कार्ड वैलिड है या नहीं यही जानने के लिए होता है ।

इसमें 16 आंकड़ों में से हरे क आंकड़ों का अलग ही एक मतलब निकलता है तो चले दोस्तों इन आंकड़ों का हम परीक्षण करते हैं और जान लेते हैं कि किस तरह से यह आंकड़े आपके डेबिट कार्ड को सिक्योर रखते हैं और आपका लेनदेन काफी सावधानी से करते हैं ।

दोस्तो आपके डेबिट कार्ड के ऊपर जो फर्स्ट यानी पहला नंबर होता है वह उस इंडस्ट्री को दर्शाता है जिसने वह कार्ड जारी किया है । इस नंबर को MII नंबर भी कहा जाता है । जिसे Major Industry Identifier भी कहा जाता है और यह बैंक पेट्रोलियम इंडस्ट्रीज और एयरलाइन के लिए अलग अलग होता है इससे उस कार्ड की पहचान काफी आसानी से हो जाती है ।

MII Digit जारी करने वाली MAIN INDUSTRIES
0ISO और अन्य इंडस्ट्री
1एयरलाइन्स
2एयरलाइन्स और अन्य इंडस्ट्री
3ट्रैवेल और इंटरटेनमेंट | अमेरिकन एक्सप्रेस या फूड क्लब
4बैंकिंग और फाइनेंस | वीजा
5बैंकिंग और फाइनेंस | मास्टर कार्ड
6बैंकिंग और मर्चेंडाइजिंग
7पेट्रोलियम
8टेलिकम्युनिकेशन्स और अन्य इंडस्ट्री
9नेशनल असाइनमेंट

दोस्तों यह तो हो गए MII यानी Major Industrial Identification नंबर । दोस्तों पहले नंबर से आप पता कर सकते हो कि वह किस इंडस्ट्रियल ने तैयार किया है । पर दोस्तों इस नंबर के साथ और भी पांच अगले नंबर होते हैं जिसे Issuer Identification Number (IIN) कहा जाता है अब यह नंबर आपको अपने कार्ड में देखने को मिल ही जाते हैं । जो भी कंपनी वह कार्ड जारी करती है उसे यह नंबर दर्शाता है ।

अगले सातवें नंबर से लेकर 15 नबर तक जो कार्ड पर नंबर होते हैं वह आपके बैंक अकाउंट से लिंक होते हैं यानी उस नंबर से बैंक वाले यह पता लगा सकते हैं कि उस नंबर का कौन सा बैंक अकाउंट नंबर है । दोस्तों यह नंबर बैंक अकाउंट से उसे मिलते जुलते नहीं होती है यह नंबर बैंक अकाउंट से अलग होते हैं । मगर बैंक से लिंक होने की वजह से उस नंबर से बैंक नंबर का पता लगा सकते हैं ।

दोस्तों अगला एक लास्ट नंबर जिसे चेक डिजिट (CD) नंबर भी कहा जाता है । वह नंबर यह दर्शाता है कि वह कार्ड अभी वैलिड है या नहीं क्योंकि जब आपके कार्ड की वैलिडिटी खत्म होती है तो बैंक वाले आपको दूसरा कार्ड दे देते हैं जहां पर वैलिड नंबर अलग होता है ।

और कार्ड जारी करने वाली कंपनी ही वह निश्चित करती है कि वह कार्ड कब तक वैलिड रहेगा और उसकी वैलिडिटी खत्म होने के बाद उस जगह दूसरा नंबर ऐड हो जाता है और आपको नए नंबर से कार्ड मिल जाता है ।

दोस्तो इस पोस्ट में हमने जाना कि ” डेबिट कार्ड के पीछे के नंबर का राज क्या होता है?

तो दोस्तों यह आर्टिकल कैसा लगा COMMENT जरूर करें । अगर इस आर्टिकल से जुड़ा आपका कोई सवाल है तो कृपया कमेंट बॉक्स में जरूर पूछें । ताकि आपके साथ और भी लोगों की परेशानी दूर हो । अगर आर्टिकल अच्छा लगे तो इसे अपनों में और आपके पसंदीदा सोशल मीडिया वेबसाइट पर SHARE जरूर करें । अन्य सोशल मीडिया साइट पर हमारे नोटिफिकेशन पाने के लिए कृपया हमें आपके पसंदीदा सोशल मीडिया साइट पर फॉलो भी करें ।

ताकि हमारा आने वाला कोई भी आर्टिकल आप मिस ना कर सको । हमें Facebook, Instagram, Twitter, Pinterest और Telegram पर फॉलो करें । साथ में हमारी आनेवाली पोस्ट के ईमेल द्वारा Instant Notification के लिए FeedBurner को SUBSCRIBE करें ।


अपने ख़िलाफ़ बातें खामोशी से सुन लो , यकीन मानो वक़्त बेहतरीन जवाब देगा । OKTECHGALAXY.COMN / Motivation

Thank you logo